Wednesday, November 1, 2017

सेतु हिन्दी लघुकथा प्रतियोगिता


आपकी प्रिय द्वैभाषिक मासिक पत्रिका 'सेतु' के प्रथमांक से अब तक के अल्पकाल में 'सेतु' को 231,000 से अधिक बार देखा और पढ़ा गया है। यह आप सबका प्रेम है सेतु के प्रति, सेतु के रचनाकारों के प्रति। प्रकाशन के अल्पकाल में ही सेतु द्वैभाषिक पत्रिका को असीमित सहयोग देने और अप्रतिम सफलता दिलाने के लिये सेतु सम्पादन मण्डल आपका आभारी है।

पिछले वर्ष इसी समय घोषित सेतु अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी काव्य प्रतियोगिता की असीम सफलता से उत्साहित होकर हिंदी दिवस और हिंदी पक्ष के पर्व वाले सितम्बर मास के इस अंक में 'सेतु' के हिन्दी संस्करण की ओर से एक अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी लघुकथा प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है, जिसके लिए आप अपनी सर्वश्रेष्ठ, मौलिकअप्रकाशित लघुकथा को यूनिकोड देवनागरी में लिखकर वर्ड फ़ाइल के रूप में सेतु हिंदी को setuhindi@gmail.com पर 31 दिसम्बर 2017 (भारतीय समयानुसार) तक भेज दीजिये।

भाग लेने के लिये आयु, राष्ट्रीयता आदि जैसी कोई सीमा नहीं है। प्रतियोगिता के अन्य नियम वही हैं जो सेतु में प्रकाशन के लिये रचना भेजने के नियम हैं। कृपया रचना भेजने के नियम भली प्रकार पढ़कर, उनके पालन की स्वीकृति अवश्य भेजें। ईमेल भेजते समय विषय में एवं संलग्न कविता के शीर्षक के पूर्व 'सेतु हिन्दी लघुकथा प्रतियोगिता 2017' लिखना न भूलें।

निर्णायक मण्डल द्वारा चयनित सर्वश्रेष्ठ रचनाओं के लिये निम्न पुरस्कार निर्धारित किए गए हैं, जो कुछ विशेष परिस्थितियों में बढ़ाए जा सकते हैं।
  • प्रथम पुरस्कार: $125
  • द्वितीय पुरस्कार: $100
  • तृतीय पुरस्कार: $75
  • अन्य पुरस्कार: साहित्यिक पुस्तकें
कृपया परिणामों की घोषणा होने तक प्रविष्टियों को अन्यत्र प्रकाशन के लिये न भेजें। पुरस्कार प्राप्त न करने वाली लघुकथाओं में से भी प्रकाशन योग्य रचनाएँ सेतु के आगामी अंकों में प्रकाशित की जा सकती हैं। अन्य अप्रकाशित रचनाओं को लेखक कहीं भी भेजने के लिये स्वतंत्र हैं।

नियमों का सारांश:
1. प्रविष्टियाँ केवल ईमेल द्वारा setuhindi@gmail.com पते पर स्वीकार की जायेंगी।
2. एक व्यक्ति की ओर से केवल एक रचना स्वीकार की जायेगी।
3. रचना पूर्णतः अप्रकाशित हो, न कहीं छपी हो, न ऑनलाइन, फ़ेसबुक, ब्लॉग, ई-समूहों आदि में साझा की गई हो। प्रतियोगिता का निर्णय होने तक रचना कहीं प्रकाशन के लिये न भेजी जाय, न ही ऑनलाइन, फ़ेसबुक, ब्लॉग, ई-समूहों आदि में साझा की जाय। ऐसी जानकारी मिलते ही प्रविष्टि रद्द कर दी जायेगी।
4. रचना यूनिकोड में टंकित हो, अन्य स्वरूपों में लिखी, स्क्रीनशॉट, ऑडियो, लिंक, आदि के रूप में भेजी गई रचनाओं को पूर्व-अस्वीकृत मानिये।
5. विषय में एवं संलग्न कविता के शीर्षक के पूर्व 'सेतु हिन्दी लघुकथा प्रतियोगिता 2017' लिखना आवश्यक है।
6. रचना भेजने के नियम भली प्रकार पढ़कर, उनके पालन की स्वीकृति का वचन रचना के साथ भेजना एक अनिवार्यता है।
8. निर्णायक मण्डल का निर्णय अंतिम और मान्य होगा।
9. भारतीय समयानुसार 31 दिसम्बर 2017 के बाद मिली प्रतियोगिता प्रविष्टियाँ स्वतः अयोग्य मानी जायेंगी।
10. परिणामों का प्रकाशन सेतु के मार्च 2018 अंक में किया जायेगा।

हार्दिक मंगलकामनाएँ!

3 comments:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (04-11-2017) को
    "दर्दे-ए-दिल की फिक्र" (चर्चा अंक 2778)
    पर भी होगी।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    कार्तिक पूर्णिमा (गुरू नानक जयन्ती) की
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  2. बहुत ही अच्छा, सराहनीय आयोजन। शुभकामनाओं के साथ।

    ReplyDelete

मॉडरेशन की छन्नी में केवल बुरा इरादा अटकेगा। बाकी सब जस का तस! अपवाद की स्थिति में प्रकाशन से पहले टिप्पणीकार से मंत्रणा करने का यथासम्भव प्रयास अवश्य किया जाएगा।