Monday, September 21, 2009

जी-२० पिट्सबर्ग में [इस्पात नगरी से - १७]

"इस्पात नगरी से" नामक श्रंखला में मैं पिट्सबर्ग की छोटी-छोटी झलकियों की मार्फ़त यहाँ के परिवेश और सामयिक घटनाओं की जानकारी देता रहा हूँ । इस श्रंखला की पिछली कडी में मैंने अपनी डैलस यात्रा का ज़िक्र किया था। इस समय कोई विशेष बात नहीं है। मतलब यह की बात सिर्फ़ विशेष न होकर अति-विशेष (VIP) है। क्यों न हो? विश्व की बीस सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के भाग्य-विधाता एक साथ इस छोटे से नगर में इकट्ठे जो हो रहे हैं।

जी हाँ, आगामी G-२० सम्मलेन २४ और पच्चीस सितम्बर २००९ को (इसी सप्ताह) इस्पात नगरी (Pittsburgh) में ही हो रहा है। बहुत से पत्रकार तो पिछले हफ्ते से ही यहाँ डेरा डाले हुए बैठे हैं। काफी लोगों के सवाल थे कि न्यू यार्क, वॉशिंगटन, लोस अन्जेलिस आदि बड़े बड़े नगरों के होते हुए इतनी महत्वपूर्ण सभा इस छोटी सी नगरी में क्यों हो रही है? राष्ट्रपति ओबामा के अनुसार ईसा इसलिए हो रहा है क्योंकि इस नगर में अद्वितीय अंतर्राष्ट्रीय विविधता के साथ-साथ हर मुश्किल वक्त से सफलतापूर्वक उभर आने की जिजीविषा और जीवट भी है। यदि आप या आपके कोई परिचित यहाँ तशरीफ़ ला रहे हों तो अपना (या उनका) कार्यक्रम मुझे बताने की कृपा करें ताकि मैं आपकी खातिरदारी के लिए तैयार रहूँ। धन्यवाद और शुभ यात्रा!

इस नगरी ने अपने सीमित संसाधनों से विश्व का स्वागत करने की तैय्यारी तो शुरू कर दी है। आईये आपको कुछ झलकियाँ दिखाते हैं जी-२० की तैयारी की, चित्रों के सहारे:

George Washington welcomes the visitors at Pittsburgh International Airport
पिट्सबर्ग अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आगंतुकों का स्वागत करते हुए जॉर्ज वॉशिंगटन की आदमकद प्रतिमा

Pittsburgh welcomes you on the ocassion of G-20 summit
पिट्सबर्ग तैयार है स्वागत के लिए

Swagatam - Welcome message in Hindi
हिन्दी सहित विभिन्न भाषाओं में स्वागत संदेश

G-20 in local magazines
स्थानीय पत्रिकाओं में जी-२० की चर्चा (मनमोहन सिंह के चित्र के साथ)

Why Pittsburgh? Because Pittsburgh is the city of the future
पिट्सबर्ग ही क्यों? भविष्य का नगर!





पिट्सबर्ग में आपका स्वागत है, हिन्दी में देखें यूट्यूब पर

Labels: G-20, international summit, Pittsburgh, September 24, 2009, Pennsylvania, USA

[सभी चित्र अनुराग शर्मा द्वारा Photo Courtesy: Anurag Sharma]

17 comments:

  1. एक अच्छी जानकारी दी है आपने . और आगे की हलचल का इंतज़ार रहेगा . विदेश में किसी बोर्ड पर हिंदी में लिखा ज्यादा सुखद लगा .

    ReplyDelete
  2. बढ़िया जानकारी दी है आपने।

    नवरात्रों की शुभकामनाएँ!
    ईद मुबारक!!

    ReplyDelete
  3. बोर्ड पर सुस्वागतम् लिखा देख हमें भी प्रसन्नता हुई।

    ReplyDelete
  4. बहुत अच्छी जानकारी है अगली कडी का इन्तज़ार रहेगा शुभकामनायें

    ReplyDelete
  5. बढ़िया जानकारी..मगर आ नहीं पा रहे हैं. :)

    ReplyDelete
  6. माँ दुर्गा इस नव रात्र में कृपा करें
    आशा की तरफ बढा जाए
    हर मुश्किल के होते हुए यह् कोइ आपके नगर से सीखे --
    और क्यों ना हो ?
    यहां भी त्रिवेणी संगम है !
    :)
    पीट्सबर्ग शहर ने ,
    अमरीकी मंदी को भी साहस के साथ झेलते हुए , अपने आंकडे ,
    बढिया प्रस्तुत कीये हैं ये भी सुन रही थी -
    [ On CNN ]
    फिर ,
    जीवन धारा को उर्जावान बनाते हुए ,
    खुशी बटोरी जाए
    भक्ति और साधना में मन लगे
    -- यही भावना के साथ ,
    स स्नेह,
    - लावण्या

    ReplyDelete
  7. ्बहुत सुंदर लिखा आप ने, आप को ओर आप के परिवार को ईद ओर नवरात्रों की शुभकामनाएँ!!

    ReplyDelete
  8. चित्रमय जानकारी बढ़िया लगी। विदेश में हिन्दी में लगी सूचना देखना सुखद लगा।
    जैजै

    ReplyDelete
  9. बढिया जानकारी दी आपने और हिंदी लिखी देख कर खुशी हुई.

    रामराम.

    ReplyDelete
  10. G 20 sammelan safal ho aur aapka Pittsburgh bhi foole fale aisi hamaari shubhkaamna hai ..... Hindi USA mein G20 ke swaagat board per dekh kar achaa laga ....

    ReplyDelete
  11. राष्ट्रपति ओबामा के अनुसार ईसा इसलिए हो रहा है क्योंकि इस नगर में अद्वितीय अंतर्राष्ट्रीय विविधता के साथ-साथ हर मुश्किल वक्त से सफलतापूर्वक उभर आने की जिजीविषा और जीवट भी है।
    -----------
    मुझे तो यह बात पसन्द आई। भारत में भी शिखर सम्मेलन जमशेदपुर-भिलाई-बोकारो में हो, क्या सुन्दर होगा!

    ReplyDelete
  12. ज्ञान भैया ने बात बड़े पते की कही है......

    बड़ी ही अच्छी जानकारी दी आपने...आभार.

    ReplyDelete
  13. लेख पढ़ा चित्र देखे |एक चित्र में सुस्वागतम देख कर अच्छा लगा

    ReplyDelete
  14. अनुराग जी,
    आपकी चित्रमयी प्रस्तुति बहुत ही मनोरम लगी...
    धन्यवाद

    ReplyDelete
  15. very good. Want to comment for finding Hindi on Board, but ironicall, I am away from my PC and hence commenting in English.

    ReplyDelete
  16. इष्टमित्रों और परिवार सहित आपको, दशहरे की घणी रामराम.

    रामराम.

    ReplyDelete
  17. बढिया जानकारी दी है |

    भाई जी, हम बहुत धीमे हैं सो अपनी कच्छप गति से ही सही ..आते रहेंगे ... आप अपनी लेखनी को निर्बाध गति से चलाते रहें ... आपसे छोटा हूँ फिर भी मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं |

    ReplyDelete

मॉडरेशन की छन्नी में केवल बुरा इरादा अटकेगा। बाकी सब जस का तस! अपवाद की स्थिति में प्रकाशन से पहले टिप्पणीकार से मंत्रणा करने का यथासम्भव प्रयास अवश्य किया जाएगा।