Thursday, July 22, 2010

चंद्रशेखर आज़ाद का जन्म दिन

कोई दिन रात मरता है, शहादत कोई पाता है....

२३ जुलाई सन १९०६ - बांस की कुटिया में आज ही के दिन श्रीमती जगरानी देवी ने चन्द्र शेखर तिवारी (आज़ाद) को जन्म दिया था.

सुखदेव, बटुकेश्वर दत्त, राजगुरु, पंडित रामप्रसाद बिस्मिल और सरदार भगत सिंह जैसे वीरों के आदर्श चंद्रशेखर तिवारी ने पंद्रह वर्ष की आयु में गांधी जी के असहयोग आन्दोलन में भाग लेकर "आज़ाद" नाम पाया था. तानाशाहों के विरुद्ध सशस्त्र क्रान्ति के समर्थक आज़ाद "हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन" के संस्थापक सदस्य थे.


२७ फरवरी १९३१ - इलाहाबाद के अल्फ्रेड पार्क (अब चंद्रशेखर आज़ाद पार्क) में मात्र २४ वर्ष के इस वीर ने अपनी ही गोली से प्राणोत्सर्ग करके अपने नाम "आज़ाद" को सार्थक कर दिया.

============
सम्बन्धित कड़ियाँ
============
* यह सूरज अस्त नहीं होगा!
* श्रद्धांजलि - १०१ साल पहले
* सेनानी कवयित्री की पुण्यतिथि
* महान क्रांतिकारी चन्द्रशेखर "आज़ाद"

============
एक असम्बन्धित कड़ी
============
* लोकसंघर्ष परिकल्पना सम्मान - श्रेष्ठ कवि

34 comments:

  1. इस विशिष्ट दिवस पर चंन्द्र शेखर आजाद को पुण्य नमन!!

    ReplyDelete
  2. पुण्य स्मरण
    सादर नमन ..!

    ReplyDelete
  3. आजादी का अलख जगाने वाले वीर सिपाही को सादर नमन।

    ReplyDelete
  4. चन्द्रशेखर आजाद, भगत सिंह, राम प्रसाद बिस्मिल, अशफ़ाकउल्ला खान,नेताजी और इन सरीखे वीरों की बदौलत ही हमें आजादी मिली है और सरकारी पाठ्य पुस्तकों से, सरकारी इतिहास में इन्हें ही सबसे ज्यादा इग्नोर किया गया है। इलाहाबाद जाने पर संगम जाने से भी पहले अल्फ़्रेड पार्क में जाकर माथा टेकना चाहता हूँ।
    श्रद्धा सुमन उस वीर बांकुरे के लिये और आपका बहुत आभार हम निर्लज्जों को ऐसे आजादी के परवानों की याद दिलाते रहने के लिये।

    ReplyDelete
  5. ऐसे वीर शहीद देशभक्त और आज भी देशभक्तों के प्रेरणा के जनक को हार्दिक प्रणाम |

    ReplyDelete
  6. i salute them 4 their...patriotric...feelings....

    ReplyDelete
  7. नमन और आपको इस स्वाभिमान दिवस की याद दिलाने के लिए आभार !

    ReplyDelete
  8. अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद की स्मृति को नमन!

    ReplyDelete
  9. चंन्द्र शेखर आजाद को पुण्य नमन और दिवस की याद दिलाने के लिए आभार !

    ReplyDelete
  10. पुण्य स्मरण , नमन !

    ReplyDelete
  11. अमर शहीद वीर आजाद को नमन !

    ReplyDelete
  12. शर्मा जी आप समय समय पर वो चीजे याद दिलाते रहते हैं जिन्हें हमें हमेशा याद रखना चाहिए. चंद्रशेखर आजाद जैसे शहीद जिनकी शहादत और बलिदान के कारण हम आजाद हवा में साँस ले पा रहे हैं का जन्म दिन एक राष्ट्रीय पर्व कि तरह मनना चाहिए था पर विडम्बना देखो कि उनका आज कहीं कोई नाम लेवा नहीं है. मैं आपका शुक्रिया करता हूँ कि अपने उन्हें याद रखा और हमें याद कराया. इसके साथ ही मैं आपको श्रेष्ठ कवि कि उपाधि मिलने कि बधाई भी देता हूँ. मुझे नहीं पाता था कि आपके दुसरे ब्लॉग भी हैं. अनुराग शर्मा नामक लेखक से पहचान तो है पर कवि को कभी नहीं पढ़ा था. वैसे पढ़ भी लेता तो क्या उखाड़ लेता कविता समझना और उस पर कोई टिप्पणी कर पाना अपने बस का रोग नहीं है. फिर भी कभी कभी अपनी बत्ती जल जाती है. चलिए फिर से धन्यवाद और बधाई.

    ReplyDelete
  13. आज़ाद जन्म, आज़ाद चिन्तन, आज़ाद जीवन, आज़ाद मृत्यु। नमन शत शत।

    ReplyDelete
  14. वह आज़ाद थे और आज़ाद ही रहे . और हम ???

    ReplyDelete
  15. aazad jaise mahan krantikaree ki yaad aapne dilai, santosh hua. unka chitr dekh kar dil ro padaa. apne hi kisi kee dhokhadhadi ke shikarhuye they aazad. khair. aisee hi jankariyan dete rahe.dhanyvaad.

    ReplyDelete
  16. श्रद्धेय को नमन. उन ह.... को क्या कहा जाये जो इन दीवानों के चलते आज आजाद हैं और आज आजाद को चोर और लुटेरा बता रहे हैं.

    ReplyDelete
  17. श्रद्धेय को शत शत नम. ऐसे लोगों को क्या कहा जाये जो इन बलिदानियों के कारण मौज कर रहे हैं और कहते हैं कि ये सब चोर लुटेरे थे.

    ReplyDelete
  18. आजादी के इस रणबांकुरे को शत शत नमन और उनका जन्म दिवस की याद दिलाने के लिए आपका आभार !

    ReplyDelete
  19. इस महान आत्मा को नमन

    ReplyDelete
  20. अमर शहीद वीर चंद्रशेखर आजाद को सादर नमन!

    ReplyDelete
  21. चंन्द्र शेखर आजाद जी को सादर नमन.

    रामराम

    ReplyDelete
  22. अमर शहीद चंन्द्रशेखर आजाद की स्मृति को शत-शत नमन.
    आभारी हूँ कि आप हमें बार-बार इन शहीदों की याद दिलाते रहते हैं.

    ReplyDelete
  23. अमर शहीद चंन्द्रशेखर आजाद जी को सभी मैनपुरी वासीयों की ओर से शत-शत नमन| आपको बहुत बहुत आभार !

    ReplyDelete
  24. पुण्य स्मरण
    सादर नमन ..!
    प्रेरणा स्त्रोतों को सबको याद दिलाने के लिए आपको भी नमन..........

    ReplyDelete
  25. मेरा नमन उनको और शुक्रिया आपका की आपने याद दिलाया !!

    ReplyDelete
  26. Durlabh Photo ka darshan karwaya hai aapne eske liye aap ka bahut bahut dhanyabad aur us mahan saput ko mera salam.

    ReplyDelete
  27. आज़ादी के सच्चे सपूत को नमन है ...

    ReplyDelete
  28. यह आपकी स्‍मरण शक्ति हो या आपकी डायरी, अभिभूत कर देती है। आपको वन्‍दन और आजाद को नमन।

    ReplyDelete
  29. शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले
    वतन पर मिटने वालों का यही नाम ओ निशां होगा ....

    (कहाँ हैं वो मेले )
    दूर वतन से बैठकर एक भारतीय याद करता है उन्हें ..............पर हकीकत में उन्हें याद करने वाला अब कोई नहीं .

    ReplyDelete
  30. Aaj unke janma diwas par unhe naman.

    ReplyDelete

मॉडरेशन की छन्नी में केवल बुरा इरादा अटकेगा। बाकी सब जस का तस! अपवाद की स्थिति में प्रकाशन से पहले टिप्पणीकार से मंत्रणा करने का यथासम्भव प्रयास अवश्य किया जाएगा।